Followers

Friday, January 14, 2022

मकर संक्रांति – चंद हाइकु

 



अद्भुत पर्व

मकर संक्रांति का

शुभकामना

 

फैला उत्साह

उषा किरण संग

सूर्योपासना

 

उड़ें पतंग

सुदूर गगन में

रंग बिरंगी

 

करती बातें

पंछियों की टोली से 

हर्षित संगी

 

सूर्य देवता

हुए उत्तरायण

दिशा बदली

 

सौंधी सुगंध

तिल गुड़ खोये की

घर में फ़ैली
 

लोहड़ी बीहू

पोंगल औ’ संक्रांति

कितने नाम

 

सभी मनाते

सम्पूर्ण भारत में

पर्व महान

 

दान धर्म का

विशेष है महत्त्व

पुण्य कमायें

 

मनाएं पर्व

उत्साह उल्लास से 

दुःख भुलाएँ  

 

गुड़ खाकर

बोलें मीठी बोलियाँ

दिलों को जीतें

 

हर त्यौहार

विधिवत मनाएं

भाग्य भी जीतें

 

साधना वैद


16 comments :

  1. बहुत सुंदर
    मकर-संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद भारती जी ! आपका बहुत बहुत आभार !

      Delete
  2. बहुत खूब। शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद नीतीश जी ! बहुत बहुत आभार आपका !

      Delete
  3. Replies
    1. बहुत बहुत शुक्रिया जीजी ! हार्दिक आभार आपका !

      Delete
  4. सादर नमस्कार ,

    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (16-1-22) को पुस्तकों का अवसाद " (चर्चा अंक-4311)पर भी होगी।
    आप भी सादर आमंत्रित है..आप की उपस्थिति मंच की शोभा बढ़ायेगी .
    --
    कामिनी सिन्हा

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद कामिनी जी ! बहुत बहुत आभार आपका ! सप्रेम वन्दे !

      Delete
  5. आ साधना वैद जी, मकर संक्रांति की ढेर सारी शुभकामनाएँ!हाइकू में सुंदर रचना!--ब्रजेंद्रनाथ

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद मर्मज्ञ जी ! आपका बहुत बहुत आभार !

      Delete
  6. गुड़ खाकर

    बोलें मीठी बोलियाँ

    दिलों को जीतें ।
    मकर संक्रांति की बहुत शुभकामनायें आदरणीय ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद दीपक जी ! बहुत बहुत आभार आपका !

      Delete
  7. Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद भारती जी ! बहुत बहुत आभार आपका !

      Delete
  8. Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद मनीषा जी ! बहुत बहुत आभार आपका !

      Delete