Followers

Monday, September 29, 2014

श्याम साँवरे



रैन दिवस
मैं रहूँ अकुलाई
श्याम साँवरे !

कल ना पावें
निस दिन बरसें
नैन बावरे !

मनमोहना
अब ना तरसाओ
बेग पधारो !

कान्ह कुँवर
बिगड़े मेरे सब
काज सँवारो !

आ जाओ अब
तज हठ अपनी
कृष्ण कन्हैया !

बाट निहारूँ
जमुना तट पर
रास रचैया !

आरतहारी
अनुनय सुन लो
श्याम बिहारी !

करुणाकर
तेरी किरपा पर
मैं बलिहारी !


साधना वैद