Followers

Sunday, August 16, 2020

भारत मेरी शान है

 

 15 August 2020 Speech, Images | Happy Independence Day 2020

मैं भारत की बेटी हूँ

और भारत मेरी शान है

जग में नहीं है इस सा कोई

मेरा देश महान है !

बहती राम नाम की सरिता

हो गीता का ज्ञान जहाँ 

योगी ऋषि मुनियों की भूमि

देवों का गुणगान जहाँ

उस पावन धरती की माटी

हर मस्तक का मान है !

मैं भारत की बेटी हूँ

और भारत मेरी शान है !

मुझे मान है इस धरती के

नदिया पर्वत अम्बर पर

मुझे गर्व चरणों को धोते

विनत भाव से सागर पर !

कण्ठ कण्ठ से जहाँ फूटता

भारत माँ का गान है

मैं भारत की बेटी हूँ

और भारत मेरी शान है !

रामराज्य की जहाँ कल्पना

होती हैं साकार अभी

वेद पुराण उपनिषद पावन

पढ़ते हों विद्वान् सभी

उस भारत की पुण्य भूमि पर

मुझे बड़ा अभिमान है !

मैं भारत की बेटी हूँ

और भारत मेरी शान है !



साधना वैद 

16 comments :

  1. बहुत सुंदर

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद केडिया जी ! बहुत बहुत आभार आपका !

      Delete
  2. नमस्ते,

    आपकी लिखी रचना ब्लॉग "पांच लिंकों का आनन्द" में मंगलवार 18 अगस्त 2020 को साझा की गयी है......... पाँच लिंकों का आनन्द पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!



    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका हृदय से बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार रवीन्द्र जी ! सादर वन्दे !

      Delete
  3. Replies
    1. आपका हृदय से बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार शास्त्री जी ! सादर वन्दे !

      Delete
  4. आदरणीया मैम,
    बहुत ही प्यारी देश भक्ति के भाव से भरी हुई रचना। पक्ष कर बहुत आनंद आया और भारतीयता का उत्साह मन में भर गया।
    उस पावन धरती की माटी

    हर मस्तक का मान है !

    मैं भारत की बेटी हूँ

    और भारत मेरी शान है ! मेरी प्रिय पंक्ति।
    सुंदर रचना के लिये हॄदय से आभार।

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद अनंता जी ! बहुत बहुत आभार आपका !

      Delete
  5. बहुत सुन्दर रचना

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद उषा जी ! बहुत बहुत आभार आपका !

      Delete
  6. Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद गगन जी ! बहुत बहुत आभार आपका !

      Delete
  7. बहुत सुन्दर भाव लिए रचना |

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद जी ! बहुत बहुत आभार !

      Delete
  8. रामराज्य की जहाँ कल्पना
    होती हैं साकार अभी
    वेद पुराण उपनिषद पावन
    पढ़ते हों विद्वान् सभी
    उस भारत की पुण्य भूमि पर
    मुझे बड़ा अभिमान है !
    मैं भारत की बेटी हूँ
    और भारत मेरी शान है !
    वाह भारत की बेटी के ज़ज्बे को सलाम है साधना जी | बहुत ही प्यारा सरल सा गीत -- वाह !!!!

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका हृदय से बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार रेणु जी ! सप्रेम वन्दे !

      Delete