Followers

Monday, August 16, 2021

स्वतन्त्रता दिवस

 



भारत वर्ष
वर्षों की दासता से
उन्मुक्त हुआ
टूटी श्रंखला
ख़त्म हुई गुलामी
स्वाधीन हुआ
राष्ट्रीय पर्व
स्वतंत्रता दिवस
हमारा मान
विश्व भर में
सशक्त भारत की
है पहचान
लाल किले पे
लहराता तिरंगा
गर्वित हम
अभिभाषण
देश के प्रधान का
हर्षित हम
उद्बोधन में
संघर्ष चुनौती की
कितनी बातें
कुटिल शत्रु
आतंकी दुश्मन की
कितनी घातें
जूझे उबरे
हर बार शत्रु को
धूल चटा के
चाल अरि की
भटकाना सबको
ध्यान बँटा के
वीर सेनानी
सिरमौर देश के
हमारी शान
रक्षण करें
जान पर खेल के
वीर जवान
सदा रखेंगे
सकल जगत में
देश का मान
जय भारत
जय जय भारत
जय भारती



साधना वैद

14 comments :

  1. जी नमस्ते ,
    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगवार(१७-०८-२०२१) को
    'मेरी भावनायें...'( चर्चा अंक -४१५९ )
    पर भी होगी।
    आप भी सादर आमंत्रित है।
    सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका हृदय से बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार अनीता जी ! सप्रेम वन्दे !

      Delete
  2. सुप्रभात
    उम्दा लिखा है

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद जीजी ! बहुत बहुत आभार आपका !

      Delete
  3. Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद गगन जी ! बहुत बहुत आभार आपका ! वन्दे मातरम् !

      Delete
  4. आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा कल बुधवार (18-08-2021) को चर्चा मंच   "माँ मेरे आस-पास रहती है"   (चर्चा अंक-४१६०)  पर भी होगी!--सूचना देने का उद्देश्य यह है कि आप उपरोक्त लिंक पर पधार करचर्चा मंच के अंक का अवलोकन करे और अपनी मूल्यवान प्रतिक्रिया से अवगत करायें।--
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'   

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद शास्त्री जी ! आपका बहुत बहुत आभार ! सादर वन्दे !

      Delete
  5. सुंदर प्रस्तुति आदरनीय💐💐💐💐💐

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद हर्ष जी ! आपका बहुत बहुत आभार !

      Delete
  6. बहुत ही सुंदर और उम्दा रचना!

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद मनीषा जी ! बहुत बहुत आभार आपका !

      Delete
  7. बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद केडिया जी ! बहुत बहुत आभार !

      Delete