Followers

Wednesday, April 17, 2013

मन की बातें – कुछ और हाईकू




दिया औ' बाती
अँधियारा मिटाती
आस्था जगाती ! 


मानिनी हूँ मैं
हक से ही पाऊँगी
भिक्षा न देना ! 

मत कुरेदो
आग है अंतर में
जल जाओगे ! 

अस्त्र उठाओ
शत्रु को पहचानो
संधान करो ! 

मैं नहीं देवी
ना दिखा छद्म भक्ति
मानवी ही हूँ !

सपने देखो
तो साकार भी करो
टूटने ना दो ! 

साहस धारो
मन को हौसला दो
दुनिया जीतो ! 

हाँ जिद्दी हूँ मैं
यूँ चुप ना रहूँगी
लड़ मरूँगी ! 

देखना मुझे
जीत कैसी होती है
सीख भी लेना ! 

१०
चाँदनी हूँ मैं 
तो सूर्य भी मैं ही हूँ
अपनी जानो ! 

११
मत पुकारो 
दूर तक है जाना 
आ न पाऊँगी !



साधना वैद