Followers

Tuesday, September 20, 2016

एक खत - मोदी जी के नाम



कुछ करिये मोदी जी ! अब तो कुछ करिये ! करोड़ों भारतवासियों की नज़रें आप पर टिकी हैं ! यह चुप्पी साधने का नहीं हुंकार भरने का समय आया है ! इस एक पल की निष्क्रियता सारी सेना का मनोबल और सारे भारतवासियों की उम्मीदों को तोड़ जायेगी ! इतने वीरों के बलिदान को निष्फल मत होने दीजिये ! शान्ति और अहिंसा के नाम पर कब तक हमारे वीर जवान अपनी जानें न्यौछावर करते रहेंगे और दिशाहीन, सिद्धांतहीन और निर्दयी आतंकवादी हमारे घर में घुसपैठ कर हमें तोड़ते रहेंगे ! यदि इस हमले का भी मुँहतोड़ जवाब न दिया गया तो विश्व भर में हमारी साख पर बट्टा लग जाएगा और उरी के वीर सैनिकों का यह बलिदान भी व्यर्थ हो जाएगा ! देश को आपसे बहुत आशाएं हैं ! उन्हें टूटने मत दीजिए ! हमारे वीरों की शाहदत का मान रखिये और शीघ्रातिशीघ्र किसी नतीजे पर पहुँच कर इस समस्या के समाधान के लिए प्रभावी कदम उठाइये ! 

शहीद को सलाम 

मान बढ़ा कर देश का, लौटा वीर जवान
सोया है ताबूत में, करके जाँ कुर्बान !

जान गँवाई वीर ने, जमा शत्रु पर धाक
मातम छाया देश में, हुआ कलेजा चाक !

सीने में हैं गोलियाँ, क्षत विक्षत है देह
जान लुटा कर देश पे, आया अपने गेह !

बाँध कफ़न सिर पर चले, सैनिक वीर जवान
मातृभूमि के वास्ते, करने को बलिदान !


साधना वैद